श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

प्रेस विज्ञप्ति- स्वतंत्रता दिवस पर सूर्योदय आश्रम पर वीर शहीदों की स्मृति में `मशाल प्रजव्वलन' 15-08-2015

स्वतंत्रता दिवस पर सूर्योदय आश्रम पर वीर शहीदों की स्मृति में `मशाल प्रजव्वलन'

शहीदों के सपनों का भारत तभी बनेगा जब युवा जागरूक होंगे: अमित आज़ाद

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को भारत महारत्न की उपाधि मिले: डी पी राघवन
 
इंदौर:
राष्ट्र संत परम पूज्य श्री भय्यूजी महाराज प्रणीत सूर्योदय आश्रम पर कल स्वतंत्रता दिवस  समारोह पूर्ण पारम्परिक हर्षोल्लास एवं उत्सवपूर्ण वातावरण में मनाया गया।  कार्यक्रम अनुसार श्री सद्गुरु दत्त  धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट के चेयरमैन श्री शरद आर पवार द्वारा देश के कुछ  अतिविशिष्ट वीर शहीदों के वंशजों की उपस्थिति में राष्ट्र ध्वज फहराया गया। तत्पश्चात भारत माता मंदिर पर भारत माता की आरती की गई और फिर देश के विभिन्न भागों में हुए आतंकवादी घटनाओं में शहीद हुए वीर जवानों की स्मृति में मशाल प्रजव्व्लन किया गया।
झण्डावंदन के पश्चात सूर्योदय परिवार के गुरुबंधुओ ने शहीदो के वंशजो के साथ वृद्धाश्रम, बालकाश्रम एवं मतिमंद, मूक बधिर लोगों से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में सौजन्य भेंट कर मिठाई वितरित की एवं उन्हें स्वाधीनता दिवस की शुभकामनायें दी।
 
ध्वजारोहण समारोह जिन वीर शहीदों के वंशज उपस्थित हुए उनमें प्रमुख रूप से श्री रघुनाथ पांडे (प्रपौत्र शहीद मंगल पांडे), विनायक राव टोपे (प्रपौत्र शहीद तात्या टोपे), अमित आज़ाद (पौत्र अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद),  डीपी राघवन (वंशज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस), विजय सिसोदिया (पौत्र दुर्ग सिंह परिहार) एवं असीम राठौर  (पौत्र शहीद महावीर सिंह) थे। इन सभी शहीदो के वंशजो को सूर्योदय परिवार द्वारा शाल, श्रीफल के साथ सम्मानित किया गया ।  साथ ही इस अवसर पर उपस्थित प्रज्व्वल गंगोत्री सृजन संस्थान की सुश्री अमृता सोलंकी एवं समस्त टीम को दशहरा मैदान पर 'वन्देमातरम' कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन एवं वन्देमातरम के सामूहिक गायन का विश्व कीर्तिमान बनाने के उनके अभिनव प्रयास के लिए सम्मानित किया।

इससे पूर्व शहीद चंद्रशेखर आज़ाद के पौत्र अमित आज़ाद ने अपने उद्बोधन में भारत को पुनः विश्व गुरु बनाने का प्रयास करने का आह्वान करते हुए सरकार से देश के वीर शहीदों के नाम परियोजनाएँ बनाने एवं शहीदों के नाम पर सिक्के निकालने की अपील की ताकि भारतीय जनमानस में शहीदों के बारे में जाग्रति रहे और वो हमारी स्मृति में रहें। उन्होंने कहा कि शहीदों के सपनों का भारत तभी बनेगा जब यहाँ के युवा जागरूक होंगे। 

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के वंशज डीपी राघवन ने देश में शहीदों की स्मृति में संग्रहालय बनाये  जाने की  बात करते हुए सरकार से नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को भारत महारत्न की उपाधि से सम्मानित करने की बात राखी। शहीद महावीर सिंह के पौत्र असीम राठौर ने कहा की हम सभी को शहीदो के जीवनी से प्रेरणा लेकर अपने बच्चों को नैतिक  शिक्षा देनी  चाहिए।



© 2017 All Right Reserved