श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

सच्चे आधुनिक राष्ट्रसंत हैं भय्यूजी महाराज – नितिन गडकरी 01-04-2016

सच्चे आधुनिक राष्ट्रसंत हैं भय्यूजी महाराज – नितिन गडकरी 
सद्गुरु श्री ‪#‎भैय्युजीमहाराज‬ की प्रेरणा से संचालित सूर्योदय परिवार (श्री सद्ग्रुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट) द्वारा राष्ट्र एवं मानव सेवा के लिए किये जा रहे अभूतपूर्व कार्यों हेतु ‘विदर्भ भूषण पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया |

"प.पू. श्री भय्यूजी महाराज सच्चे आधुनिक राष्ट्रसंत हैं, उनके द्वारा किए जा रहे कार्यो में सच्चे सन्त के दर्शन होते हैं। संत ही समाज की पीड़ा से पीड़ित हो, समाज उत्थान के कार्य करते हैं | यह उत्थान मार्गदर्शन के रूप में भी हो सकता है और सेवा के रूप में भी | उनके द्वारा चलाए जा रहे सेवा-प्रकल्प समाज निर्माण के साथ ही राष्ट्र निर्माण में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं|”  उक्त उदगार केन्द्रीय परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी ने विदर्भ समाज संघ, मुम्बई द्वारा ‘विदर्भ भूषण पुरस्कार’ समारोह के अवसर पर व्यक्त किए|  
विदर्भ समाज संघ, मुम्बई द्वारा सदगुरु श्री ‪भय्यूजी महाराज के सामाजिक, राष्ट्रीय एवं मानव सेवा हेतु किए गए अभूतपूर्व कार्यों हेतु, उन्हें ‘विदर्भ भूषण पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया। मुम्बई (महा.) में आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में श्री नितिन गडकरी के हाथों यह पुरस्कार दिया गया| अपनी माताश्री के पुणे के हॉस्पिटल, में स्वास्थ्य लाभ लेने के कारण, सदगुरु श्री‪ भय्यूजी महाराज कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हो सके | इस कारण उनके निर्देश पर, उनकी ओर से यह पुरस्कार तथा सम्मान-पत्र सूर्योदय परिवार की कार्याध्यक्ष सुप्रसिद्ध पार्श्व गायिका अनुराधा पौडवाल ने स्वीकार किया। कार्यक्रम में अन्य वक्ताओं ने श्री भय्यूजी महाराज द्वारा पिछले 20 वर्षों से सूर्योदय परिवार द्वारा चलाए जा रहे सेवा कार्यों से प्रेरणा लेने को कहा | श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक श्री भय्यूजी महाराज द्वारा किये जा रहे कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण के क्षेत्रों में सार्थक कार्य तथा सूखा-पीड़ित क्षेत्रों हेतु पानी की टंकियों का वितरण, ग्रामीण क्षेत्रों में सूर्योदय शौचालयों (टॉयलेट्स) का निर्माण, 'जीवदया अभियान' के अन्तर्गत सकोरों का वितरण, बन्दीगृहों में आध्यात्मिक तथा सामाजिक उत्थान के ग्रन्थों (किताबों) से युक्त पुस्तकालय (लाइब्रेरी) तथा कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना, बन्दीगृह से कारावास भोग चुके बन्दियों का पुनर्वसन, कुपोषित बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराना, लावारिस मृत देहों का अन्तिम-संस्कार, युवाओं को आयुर्वेद द्वारा स्व-रोजगार, वारांगनाओं के बच्चों की शिक्षा का दायित्व लेना, दवाई, अन्न, वस्त्र, पुस्तक बैंक का शुभारम्भ, मानवता सेवा सम्मान पुरस्कार एवं आदर्श पिता पुरस्कार प्रदान करना, पशुओं हेतु जल-कुण्डों (होदों) की स्थापना, नवीन एच आई वी पीड़ित बालगृह की स्थापना, 'कन्या दान योजना' अंतर्गत निःशुल्क सामूहिक विवाह का आयोजन, सर्व-सुविधायुक्त संगीत गोशालाओं का निर्माण, अन्तरराष्ट्रीय संगीत कला अकादमी की स्थापना तथा कृषि क्षेत्र में आधुनिक मिट्टी एवं जल परीक्षण प्रयोगशालाओं की स्थापना, नये खेत तालाबों का निर्माण, सूखा ग्रस्त क्षेत्रों में नालों का गहरीकरण, किसानों को कुरता-पायजामा (वस्त्रों) का वितरण, किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए गांव गांव जाकर 'किसान संवाद-यात्रा' का आयोजन, किसानों को धान्य वितरण, किसानों को निःशुल्क बीज वितरण, भूमि सुधार अभियान, किसानों हेतु ऑन लाईन कृषि तीर्थ जियो किसान योजना, शिक्षा क्षेत्र में कला-क्रीड़ा प्रबोधिनी प्रशिक्षण, किसानों तथा बन्दियों के बच्चों को छात्रवृत्ति, नये कम्प्यूटर उच्च शिक्षा केन्द्रों की स्थापना, निर्धन बच्चों को साइकल उपलब्ध काराना, देवदासियों, बन्दियों तथा किसानों के बच्चों हेतु नए विद्यालयों की स्थापना, पारधी समाज को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए पारधी समाज आदिवासी आश्रमशाला की स्थापना, रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण तथा उन्हें निःशुल्क औषधियां प्रदान करने हेतु चिकित्सा शिविरों का आयोजन, राष्ट्रीय राजमार्ग पर वृक्षारोपण, सभी धर्मों के धार्मिक स्थलों का जीर्णोद्धार जैसे कार्य संस्था द्वारा किए जा रहे हैं | इसे देखते हुए यह पुरस्कार देना, पुरस्कार की सार्थकता है|
 

© 2017 All Right Reserved