श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

राष्ट्रसंत भय्यूजी महाराज के पिताजी 'बापू' की जयंती पर अति रूद्र महाभिषेक, विष्णु सहस्त्रनाम पाठ का आयोजन 30-04-2016

शुजालपुर: आध्यात्मिक गुरु परम पूज्य श्री भय्यूजी महाराज के पिताजी स्व. श्री विश्वासरावजी  देशमुख `बापू' की 87वीं जयंती समारोह आज उनके पैतृक गाँव अखत्यापुर, तहसील शुजालपुर में पूर्ण सादगी के साथ मनाई गई। इस अवसर पर स्व. 'बापू' के स्मारक स्थल की पूजा पूर्ण पारम्परिक एवं वैदिक रीती से संपन्न हुई, जिसमें बड़ी संख्या में ग्रामवासी एवं क्षेत्र के अन्य प्रबुद्ध लोगों के साथ साथ गुरुबंधु एवं संस्था के प्रतिनिधिगण उपस्थित हुए। 

कार्यक्रम के अंतर्गत, स्व 'बापू' के स्मारक स्थल की पूजा आज सुबह 7 से  9 बजे के बीच लघु रूद्र, महा रूद्र एवं अति रूद्र महाभिषेक का आयोजन पं. संजय मिश्रा की अगुआई में संपन्न हुआ। त्पश्चात सुबह 9 से 10 बजे तक  गणपति अर्थवर्षिश एवं विष्णु सहस्त्रनाम पाठ का आयोजन हुआ, जिसमे श्री भय्यूजी के परिजन श्री दिलीप देशमुख एवं परिवार के लोगों के आलावा बड़ी संख्या में स्थानीय निवासी भी सम्मिलित हुए। अंत में महा प्रसादी का आयोजन हुआ जिसमें बड़ी संख्या में गाँव के स्थानीय निवासियों के साथ-साथ, गुरुबंधु सम्मिलित हुए।

ज्ञात हो स्व. बापू की स्मृति में उनके जयंती दिवस पर पिछले दो वर्षों से प्रति वर्ष सूर्योदय परिवार द्वारा 'आदर्श पिता' का पुरस्कार समाज के ऐसे लोगों को दिया जाता है जिन्होंने विषम परिस्थितियों में अपने समाज एवं परिवार के उत्कृष्ट कार्य किये हों। पिछले वर्ष आदर्श पिता का पुरस्कार इंदौर के श्री हरिश्चंद्र सोनी को दिया गया था जिन्होंने अपनी विषम आर्थिक स्थिति एवं कतिपय संघर्षों, संकटों को झेलने के बावजूद अपने दो पुत्रों एवं एक पुत्री का भरण पोषण कर ना सिर्फ उन्हें शिक्षित किया बल्कि अपने बड़े पुत्र जो गंभीर बीमारी से ग्रसित था और जिसके दोनों गुर्दे ख़राब हो चुके थे, उसे अपना स्वयं का एक गुर्दा देकर उसे नया जीवन देकर एक आदर्श पिता होने का उत्कृष्ट उदहारण पेश किया।
इस वर्ष आदर्श पिता का पुरस्कार स्व. बापू के जयंती दिवस पर किसी अवांछित कारणों से नहीं दिया गया है। इस पुरस्कार की घोषणा आगे किसी उपयुक्त समय पर की जाएगी। 


 

© 2017 All Right Reserved