श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

सरसंघचालक मोहन भागवत ने राष्ट्र संत भय्यूजी महाराज से सौजन्य भेंट किया 11-05-2016

भय्यूजी महाराज के ऊपर हुए हमले की कड़ी निंदा की।  

इंदौर: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत जी आज सुबह राष्ट्र संत श्री भय्यूजी महाराज के उनके विजय नगर स्थित निवास पर मिलने पहुँचे, तीन दिन पूर्व श्री भय्यूजी महाराज पर पुणे से इंदौर लौटते समय हुए हमले के सन्दर्भ में उनका कुशल क्षेम पूछने व सौजन्य वार्ता के लिए आये श्री भागवत ने श्री भय्यूजी महाराज से उनका हाल जाना दुर्घटना में आई चोटों से उनके शीघ्र स्वास्थ लाभ की कामना की। श्री भागवत ने श्री भय्यूजी महाराज पर हुए इस षड़यंत्रकारी व सुनियोजित हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि- श्री भय्यूजी महाराज आगे भी इसी निडरता से समाज के समक्ष अपनी बातों को रखते रहें और इन अवसरवादी साज़िशों व हमलों के निरपेक्ष रहें। 

राष्ट्रीय सरसंघचालक ने भय्यूजी महाराज द्वारा किसानों, गरीबों एवं वांछितों के सहायतार्थ सामाजिक एवं आर्थिक विकास के लिए चलाए जा रहे विभिन्न सामाजिक, कृषि, शैक्षणिक, स्वास्थ्य एवं अन्य प्रकल्पों की सराहना की और कहा कि - विशेषकर उनके द्वारा सूखा प्रभावित क्षेत्रों में जल एवं पर्यावरण संवर्धन, भूमि सुधार एवं पीड़ित किसानों में आत्महत्या जैसी प्रवृति को रोकने एवं उनमें चेतना जागृत करने के लिए किए गए प्रयासों की मुक्तकंठ से प्रशंसा की और अपनी शुभकानाएँ प्रेषित की। साथ ही उन्होंने महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश व बुन्देलखण्ड में गरीब किसानों के लिए किये जा रहे सेवा कार्यों के बारे में विस्तृत चर्चा की।  

ज्ञात हो अभी हाल ही में भय्यूजी महाराज एवं उनके अनुयायिओं पर पूना से इंदौर के रास्ते में अज्ञात लोगों द्वारा दो स्थानों पर सुनियोजित तरीकों से उन्हें क्षति पहुंचाने के लिए हमला किया गया। इस हमला में भय्यूजी महाराज को मामूली चोटें आई।  अपने ऊपर हुए हमले की प्रतिक्रिया में उन्होंने  आशंका व्यक्त की थी कि जिस तरह वो पिछले कुछ समय से धर्म एवं आध्यात्म के नाम पर पाखण्ड करने वालों की निंदा कर रहे थे, वह बातें धर्म के कुछ तथाकथित मठाधीशों को रास नहीं आ रहा है और वो उन्हें अपने रास्तों से हटाने के प्रयास में हैं। कुछ दिन पूर्व ही भय्यूजी महाराज ने सरकार एवं अन्य संस्थाओं द्वारा धार्मिक आयोजनों पर करोड़ों रुपए खर्च किये जाने की निन्दा करते हुए कहा था कि इन रुपयों को बचा कर इसका उपयोग किसानों की दशा एवं दिशा सुधारने में लगाना चाहिए।

श्री भय्यूजी महाराज व उनके सूर्योदय परिवार ने अपने  सभी धार्मिक खर्चों में कटौती कर सारा धन सूखा व अन्न की समस्या से जूझ रहे लोगों के सहायतार्थ खर्च करने का संकल्प लिया है।  

सादर प्रकाशनार्थ। 

© 2017 All Right Reserved