श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

दुष्कालमुक्त मराठवाड़ा संकल्प समारोह: सूर्योदय परिवार द्वारा बीड में `मानवता का महाकुंभ' का आयोजन  22-06-2016

आरएसएस सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत  किसान, गरीब हितैषी योजनाओं का लोकार्पण करेंगे   

बीड: मराठवाड़ा का स्मरण होते  ही एक ऐसे सूखा-ग्रस्त क्षेत्र की आकृति मानस पटल पर अंकित हो जाती है, जहाँ दूर-दूर तक दरारों से भरा विशाल बंजर भूखण्ड दिखाई देता है, जहां पानी की एक एक बूंद के लिए त्राहि त्राहि मचा है, जहां कोसों तक महिलाएं को सर पर मटका लेकर पैदल चलते हुए अपने बच्चों की प्यास बुझाने, घर का खाना बनाने हेतु जल की तलाश में भटकना पड़ता है, जहाँ अनावृष्टि एवं अकाल के कारण पुरे देश में सबसे अधिक किसान आत्महत्या करते हैं।
उपरोक्त बातों को ध्यानस्थ रखते हुए, यह कहना कोई अतिशियोक्ति नहीं होगा कि आज का मराठवाड़ा पूरे देश में दुष्काल एवं अकाल का पर्यायवाची बन चुका है। यहाँ की विषम पर्यावरणीय एवं भौगोलिक स्थिति से निर्मित अकाल के दुष्परिणामों को देखते हुए राष्ट्रसंत डॉ. श्री भय्यूजी महाराज, जो पिछले कई वर्षों से अपनी सामाजिक संस्था - श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट के माध्यम से मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र के अकाल पीड़ित एवं आत्म हत्या से ग्रसित  किसानों, गरीबों, अबलाओं, समाज के परितज्य लोगों की दशा एवं दिशा सुधारने में कई महत्वकांक्षी परियोजनाएं चला रहे हैं, ने सम्पूर्ण मराठवाड़ा को दुष्काल से मुक्त करने एवं पूरे क्षेत्र में कृषि एवं सिंचाई क्रांति लाने का 21-सूत्रीय कार्ययोजनाओं को वर्ष 2016 के अंत तक पूरा करने का संकल्प लिया है। इन संकल्पों में से जल संधारण एवं संरक्षण योजना के अंतर्गत नालों एवं नहरों का खनन एवं गहरीकरण, तालाबों का निर्माण, बीज वितरण योजना अंतर्गत बीज वितरण, जैविक खाद वितरण, अनाज वितरण, पशुओं के लिए चारा वितरण, पशुओं को टीकाकरण, कृषि भूमि की उत्पादकता बढ़ाने के लिए जल मिट्टी प्रयोगशाला, चलित प्रयोगशाला, भूमि सुधार योजना के अंतर्गत कृषि भूमि की उत्पादकता हेतु कई महत्वपूर्ण कार्य योजनाएं समय से पूर्व ही पूर्ण कर ली गई हैं। 
मराठवाड़ा को दुष्काल मुक्त करने हेतु लिए गए संकल्पों को समय से पूर्व ही सफलतापूर्वक पूर्ण करने के लिए श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं परमार्थिक ट्रस्ट द्वारा  भैय्यू महाराज के मार्गदर्शन में महाराष्ट्र के बीड शहर के छत्रपति शिवाजी क्रीड़ा संकुल में 25 जून 2016  को `मानवता का महाकुंभ' (संकल्प पूर्ति समारोह) 2016 नाम से एक विशाल कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। राष्ट्रिय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत जी  इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। कार्यक्रम के विशेष अतिथि होंगे महाराष्ट्र भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री रावसाहेब दानवे, महाराष्ट्र की ग्रामिक विकास, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री सुश्री पंकजा मुंडे, खासदार बीड लोक सभा क्षेत्र डॉ प्रीतम ताई मुंडे, आमदार एवं महाराष्ट्र के राज्य मंत्री श्री जयदत्त अन्ना क्षीरसागर, खासदार रावेर लोक सभा श्रीमती रक्षा ताई खड़से, श्री कुंवर हरिवंश सिंह (खासदार, प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश),  डॉ सुभास भामरे (खासदार, धुले ) एवं सुप्रसिद्ध फिल्म निर्देशक श्री मधुर  भंडारकर। 
कार्यक्रम की जानकारी देते हुए श्री सदगुरु  दत्त धार्मिक एवं परमार्थिक ट्रस्ट के ट्रस्टी श्री तुषार पाटिल ने कहा कि कार्यक्रम के मुख्य अथिति एवं आर एस एस के सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत  इस अवसर पर  आध्यात्मिक संत श्री भय्यूजी महाराज  एवं अन्य गणमान्य अतिथियों की उपस्थिति में सूर्योदय परिवार द्वारा  मराठवाड़ा क्षेत्र में पारधी समाज, आत्महत्याग्रस्त किसान परिवारों के बच्चों, बंदियों तथा वारांगनाओं के बच्चों,  नैसर्गिक आपदाग्रस्त परिवारों के बच्चों के शिक्षा एवं पुनर्वसन हेतु शुरू किये गए कई शैक्षणिक संस्थानों, केंद्रों, प्रमुख रूप से सूर्योदय समिश्र बालगृह, गन्ना कटाई करने वाले कामगारों के बच्चों की शाला, बंदि पुनर्वसन केन्द्र, तृतीय पंथी पुनर्वसन प्रशिक्षण केन्द्र, निराश्रित वृद्धों एवं उसतोड़ कामगारों के माता-पिता के लिए वृद्धाश्रम, चलित मृदा व जल परीक्षण प्रयोगशाला, शासकीय शाला विद्यालय के लिए सूर्योदय विज्ञान रथ (चलित प्रयोगशाला) के साथ साथ सूर्योदय परिवार व सदगुरु डॉ. श्री भय्यूजी महाराज के मोबाइल एप्प का लोकार्पण करेंगे। इस अवसर पर डॉ भागवत द्वारा गरीब किसानों के बच्चों को उच्च शिक्षण के लिए `हायर एजुकेशन एट यूर डोर' योजना का भी शुभारम्भ किया जाएगा, जिसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 50 केंद्रों को खोलना प्रस्तावित है। 
इन शिक्षण संस्थानों, केंद्रों के लोकार्पण के बाद सूर्योदय परिवार द्वारा सफलतापूर्वक चलाई जा रही अन्य योजनाओं का भी आर. अस. अस सरसंघचालक द्वारा औपचारिक शुरुआत की जाएगी, यद्द्यपि  इनमें से कई योजनाओं को समय से पूर्व ही पूरा कर लिया गया है । 
संकल्पित योजनाओं की जानकारी देते हुए श्री पाटिल ने कहा कि सूर्योदय बीज वितरण योजना  अंतर्गत गरीब व अल्पभूधरक 15,000 किसानों को निःशुल्क बीज वितरित किया गया है ।  इसी तरह सूर्योदय छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत गरीब, निर्धन किसानों के 1000 बच्चों को सायकल वितरित की जाएगी, सूर्योदय छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत अल्पभूधारक किसानों, पारधी समाज, कैदी बंधुओं, गन्ना कटाई करने वाले कामगारों के 5 हज़ार बच्चों के बीच छात्रवृत्ति का वितरण किया जाएगा।  सूर्योदय आधार योजना अंतर्गत 2 लाख किसानों के परिवारों व गरीब, असहाय लोगों को आरोग्य सुविधा हेतु आधार कार्ड  का वितरण किया गया है। इसके अलावा 2500 आत्महत्याग्रस्त व गरीब किसानों के परिवारों को राशन एवं धान्य एवं अल्पभूधारक व गरीब किसानों को 25 जोड़ी बैलों का वितरण किया गया है।  इसी तरह पशुओं को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए 101 जलकुण्डों का वितरण भी प्रस्तावित है, जिसमें से अधिकांश जलकुंडों का वितरण किया जा चूका है।    

श्री पाटिल ने कहा कि डॉ भागवत जी जो सामान्यतया सामजिक समारोहों में भाग नहीं लेते, का `मानवता का महाकुंभ' कार्यक्रम से जुड़ना  महत्व्पूर्ण है।  उन्होंने कहा कि भय्यूजी महाराज द्वारा कृषि, स्वास्थ्य, जल संरक्षण एवं अन्य लोक कल्याणकारी योजनाओं से अत्यन्त प्रभावित होने के पश्चात ही आर. एस. एस सरसंघचालक ने इस कार्यक्रम  से जुड़ने की अपनी सहमति प्रदान की, जिससे  कि अधिक से अधिक लोग भय्यूजी महाराज द्वारा किये जा रहे कार्यों से प्रेरणा लेकर इस तरह के कार्यों को अपने स्तर पर आगे बढ़ा सकें। 

सादर प्रकाशनार्थ। 

श्री तुषार पाटिल  (ट्रस्टी)      
श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं परमार्थिक ट्रस्ट इंदौर 

© 2017 All Right Reserved