श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

अहमदनगर की बेटियों की सुरक्षा के लिए सदगुर श्री डॉ. भैय्यू महाराज द्वारा `सूर्योदय कुहू कन्या धन योजना' की शुरुआत | 20-07-2016

इंदौर: महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के #कोपर्डी गांव में एक नाबालिग लडकी की सामूहिक बलात्कार एवं नृशंश हत्या की तीव्रतम शब्दों में निंदा करते हुए आध्यात्मिक संत श्री भैय्यू महाराज ने कहा कि इस तरह के जघन्य अपराधों की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए सूर्योदय परिवार द्वारा अहमद नगर जिले में `सूर्योदय कुहू कन्या धन सुरक्षा योजना' की शुरुआत की जा रही है । इस योजना के अंतर्गत सूर्योदय परिवार द्वारा अहमद नगर जिले के ग्रामीण अंचलों में छात्राओं को अपने घर से स्कूल एवं स्कूल से वापस घर सुरक्षित पहुंचाने हेतु चार मिनी स्कूल बसों को चलाया जाएगा। इन बसों में सीसीटीवी कैमरे द्वारा विडिओ रिकॉर्डिंग, बस की लोकेशन ट्रैक करने के लिए लोकेशन ट्रैकर, पेरेंट्स को पिक और ड्राप की सूचना देने के लिए मैसेज अलर्ट, अटेंडेंस रिकॉर्डिंग के लिए बायोमेट्रिक मशीन, छोटी लाइब्रेरी इत्यादि सुविधाये रहेगी ।
बसों में स्कूली छात्राओं को किसी भी तरह की असुविधाओं का सामना नहीं करना पड़े, इसको ध्यान में रखते हुए, महिला चालकों एवं परिचालकों को रखने का निर्णय लिया गया है। इन बसों के परिचालन पर होने वाले खर्चों का वहन सूर्योदय परिवार द्वारा किया जाएगा तथा बसों का नियमित संचालन ग्रामीण एवं स्थानीय समिति के सरंक्षण में किया जायेगा ।
भैय्यू महाराज ने कहा कि अपनी बेटी कुहू का पिता होने के नाते, कोपर्डी की निर्भया एवं उसके माता पिता के दर्द को भली भाँती महसूस कर सकते हैं। अतः इन बेटियों की रक्षा करना उनकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि यह देश का दुर्भाग्य है कि लोग कोपर्डी के गुनहगारों को मात्र कठोरतम सजा दिलाने की बात कर समाज के प्रति अपने कर्तव्व्यों का इति कर लेते हैं, पर इन जघन्य घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए कोई पहल नहीं करते। उन्होंने कहा कि उनके ट्रस्ट द्वारा अहमद नगर के ग्रामीण अंचलों की कन्याओं के सुरक्षा हेतु बस मुहैया करवाना, इसी दिशा में एक सार्थक प्रयास है। 
उन्होंने कहा कि `सूर्योदय कुहू कन्या धन सुरक्षा योजना' का मूल उद्देश्य है भयमुक्त समाज का निर्माण करना एवं कोपर्डी जैसी घटनाओं से भयभीत होकर शिक्षा जैसे जीवन की मूल आवश्यकता को छोड़ने वाली बेटियों को पुनः शिक्षा दिलाने एवं सुरक्षा प्रदान करना हैं। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए समाज की मानसिकता बदलना बेहद जरुरी है। सूर्योदय परिवार इसके लिए विगत कई वर्षों से 'सूर्योदय संस्कार सप्ताह अभियान' चला रहा है, जिसके माध्यम से बच्चों को भारतीय संस्कृति व संस्कारों की शिक्षा दी जाती है, जिससे कि उनमें समाज, मानवता एवं राष्ट्र के प्रति अच्छी सोच निर्मित हो और राष्ट्र एवं समाज को अपमानित करने वाली जैसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो ।

© 2017 All Right Reserved