श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

प्रेस विज्ञप्ति

यौन उत्प्रीड़न जैसी अमानवीय मानसिकता को रोकने के लिए मूल्य आधारित शिक्षा एवं संस्कार आवश्यक: भैय्यू महाराज    22-07-2016

यौन उत्प्रीड़न जैसी अमानवीय मानसिकता को रोकने के लिए मूल्य आधारित शिक्षा एवं संस्कार आवश्यक: भैय्यू महाराज   
सूर्योदय परिवार द्वारा स्कूली छात्राओं की सुरक्षा के लिए `सूर्योदय कुहू कन्याधन सुरक्षा योजना'  की शुरुआत

वरिष्ठ समाज सेवी अन्ना हज़ारे द्वारा कोपर्डी के बेटियों के लिए 4 आधुनिक संसाधनों से युक्त स्कूल बसों का लोकार्पण 


अहमदनगर : महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के कोपर्डी गांव में एक नाबालिग लडकी के साथ हुई वीभत्स घटना से दुखी होकर आध्यात्मिक संत भैय्यू महाराज  द्वारा देश के ग्रामीण क्षेत्रों की बेटियों, स्कूली छात्राओं की सुरक्षा हेतु  शुरू किये गए `सूर्योदय कुहू कन्याधन सुरक्षा योजना' के अंतर्गत आज कोपर्डी  में वरिष्ठ समाजसेवी श्री अन्ना हज़ारे के हाथों आधुनिक संसाधनों से सुसज्जित  चार स्कुल बसों का लोकार्पण किया गया।  इस अवसर पर आध्यात्मिक संत भैय्यू महाराज के अलावा विशेष अतिथि के रूप में  आदर्श सरपंच श्री पोपटराव पवार, पूर्व मंत्री श्री हर्षवर्धन पाटिल, समाजसेविका विद्या ताई उपस्थित थे   इस अवसर पर अपने सम्बोधन में अन्ना ने भैय्यू महाराज के इस प्रशंसनीय एवं अभिनव योजना की सराहना करते हुए कहा कि आधुनिक तकनिकी संसाधनों से सुसज्जित बसें निश्चित रूप से ग्रामीण बालिकाओं की सुरक्षा में कारगर सिद्ध होगी। श्री हज़ारे ने भय्यूजी महाराज के इस पहल की सराहना करते हुए युवाओं से देश के सम्मान एवं बेटियों, महिलाओं के संरक्षण के लिए कार्य करने की अपील की। 

भय्यूजी महाराज ने कोपर्डी में एक बालिका के साथ हुई वीभत्स घटना  कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इस तरह की घटनाओं के लिए  युवाओं में बढती नशीले व मादक पदार्थो की बुरी आदतों और अश्लील (पोर्न) साइट को जिम्मेदार ठहराया और सरकार से इनको प्रतिबंधित करने की अपील की। उन्होंने कहा की उनके ट्रस्ट द्वारा बेटियों के संरक्षण लिए राष्ट्र माता जीजा बाई संगठन का गठन किया गया है जिसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की बेटियों को आत्मसंरक्षण  एवं आत्मरक्षा की प्रशिक्षण दी जाएगी। इस योजना के अंतर्गत बेटियों को समाज के भेड़ियों से बचाने के लिए नियमित परामर्श दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्राचीन समय में लोगों के शरीर पर वस्त्र नहीं हुआ करते थे, फिर भी किसी के मन में वासना  एवं उत्तेजना के विचार नहीं आते थे।  पर आज के आधुनिक युग में शरीर पर पूर्ण वस्त्र होते हुए भी वासना एवं उत्तेजना का माहौल चारो ओर  प्रलक्षित हो रहा है। अतः समाज में इस तरह की सामूहिक यौन उत्पीड़न जैसी घटनाओं को रोकने के लिए युवाओं की मानसिकता और मनोदशा में सुधार करने हेतु मूल्य आधारित शिक्षा एवं संस्कार देना आवश्यक है जिसके लिए सूर्योदय परिवार द्वारा देशव्यापी 'सूर्योदय संस्कार सप्ताह अभियान' चलाया जायेगा। 

इससे पूर्व भय्यूजी महाराज, वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे, पूर्व मंत्री हर्षवर्धन पाटिल, आदर्श सरपंच पोपटराव पवार एवं समाज सेविका विद्या ताई चव्हाण के साथ कोपर्डी जिला अहमदनगर की निर्भया के माता-पिता और परिवार वालों से सौजन्य भेंट कर इस लोमहर्षक घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए अपनी संवेदनाएं व्यक्त की । 

भैय्यू महाराज ने सूर्योदय कुहू कन्याधन सुरक्षा योजना की जानकारी देते हुए कहा कि कोपर्डी में बालिका के साथ हुई भयानक त्रासदीपूर्ण घटना ने उन्हें देश के बेटियों की सुरक्षा के प्रति चिंतित कर दियाऔर इसी बात को दृष्टिगत  रखते हुए महाराष्ट्र के अहमद नगर एवं बीड जिले में ग्रामीण क्षेत्रों की स्कूली छात्राओं के लिए आधुनिक संसाधनों से युक्त स्कुल बस चलाने के लिए प्रेरित किया।  उन्होंने कहा कि वर्तमान में संस्था द्वारा चार बसें चलाई जाएंगी जिसमें दो बसें अहमदनगर जिले के कोपर्डी एवं 2 बसें बीड जिले में चलाई जाएंगी। ये बसें सीसीटीवी कैमरे द्वारा विडिओ रिकॉर्डिंग, बस की लोकेशन ट्रैक करने के लिए लोकेशन ट्रैकर, पेरेंट्स को पिक और ड्राप की सूचना देने के लिए मैसेज अलर्ट, अटेंडेंस रिकॉर्डिंग के लिए बायोमेट्रिक मशीन, छोटी लाइब्रेरी इत्यादि सुविधाओं से युक्त रहेगी। बसों में स्कूली छात्राओं को किसी भी तरह की असुविधाओं का सामना नहीं करना पड़े, इसको ध्यान में रखते हुए, महिला चालकों एवं परिचालकों को रखने का निर्णय लिया गया है। इन बसों के परिचालन पर होने वाले खर्चों का वहन सूर्योदय परिवार द्वारा किया जाएगा तथा बसों का नियमित संचालन ग्रामीण एवं स्थानीय समिति के सरंक्षण में किया जायेगा। 
आध्यात्मिक संत ने कहा कि एक पिता होने के नाते, कोपर्डी की निर्भया एवं उसके माता पिता के दर्द को भली भाँती महसूस कर सकते हैं। इन्हीं बातों के मद्देनज़र उन्होंने इन बेटियों की सुरक्षा एवं रक्षा की नैतिक जिम्मेदारी ली है।
कोपर्डी की लोमहर्षक घटना पर दुःख जताते हुए कहा भैय्यू महाराज ने कहा कि यह देश का दुर्भाग्य है कि लोग कोपर्डी के गुनहगारों को मात्र कठोरतम सजा दिलाने की बात कर समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का इति कर लेते हैं, पर इन जघन्य घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए कोई पहल नहीं करते। उन्होंने कहा कि उनके ट्रस्ट द्वारा अहमद नगर और बीड के ग्रामीण अंचलों की कन्याओं के सुरक्षा हेतु बस मुहैया करवाना, इसी दिशा में एक सार्थक प्रयास है। उन्होंने कहा कि सूर्योदय कुहू कन्याधन सुरक्षा योजना का मूल उद्देश्य है कोपर्डी जैसी घटनाओं से भयभीत होकर शिक्षा जैसे जीवन की मूल आवश्यकता को छोड़ने वाली बेटियों को पुनः शिक्षा दिलाने एवं सुरक्षा प्रदान करना। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए समाज की मानसिकता बदलना बेहद जरुरी है। सूर्योदय परिवार इसके लिए विगत कई वर्षों सूर्योदय संस्कार सप्ताह अभियान चला रहा है, जिसके माध्यम से बच्चों को भारतीय संस्कृति व संस्कारों की शिक्षा दी जाती है, जिससे कि उनमें समाज, मानवता एवं राष्ट्र के प्रति अच्छी सोच निर्मित हो और निर्भया जैसी घटनाओं की
पुनरावृत्ति ना हो।
ज्ञांत हो, सूर्योदय परिवार परिवार बालिकाओं, महिलाओं की सुरक्षा, स्वाबलम्बन तथा भ्रूण हत्या जैसे सामाजिक कुरीतियों को रुकने के लिए कतिपय योजनाएं चलाई जा रही हैं।  अभी हाल ही में ट्रस्ट द्वारा महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र की ग्रामीण बालिकाओं को १०० साइकिलों का वितरण किया गया है, जिससे कि ग्रामीण बालिकाओं को अपने विद्यालयों तक जाने में किसी भी तरह की कठिनाइयों का सामना नहीं  करना पड़े। इसी तरह गरीब महिलाओं, बालिकायों को आर्थिक  स्वाबलम्बित करने  उन्हें विभिन्न रोजगारमूलक प्रशिक्षण दिया गया है, जिसके कारण इन महिलाओं की समाजिक एवं आर्थिक दशा में एक बड़ा बदलाव आया है। 


सादर प्रकाशनार्थ। 

श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं परमार्थिक ट्रस्ट, इंदौर   
 

© 2017 All Right Reserved