श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

सूर्योदय बालगृह

सन : 30-01-2009 स्थान : जिला अकोला, महाराष्ट्र



मूल भावना – वर्तमान में कई ऐसे गंभीर रोग हैं, जो हमारे समय के लिए अभिशाप हैं | जिनमें से अनेक रोग महामारी का रूप ले चुके हैं और उनका संक्रमण दिन प्रतिदिन घातक होता जा रहा है | कई रोग ऐसे हैं, जिनका परिक्षण ही बहुत कठिन है तथा अनेक रोगों में पीड़ित व्यक्ति को यह भी पता नहीं होता है कि वह रोग उसके लिए प्राणघातक है | कई बीमारियाँ ऐसी भी है, जिन्हें पीड़ित व्यक्ति गोपनीय रखना चाहता है तथा उस रोग के चलते स्वयं आत्मग्लानि में जलता रहता है | समाज कई ऐसे पीड़ितों के प्रति हीन भावना रखता है लेकिन यह समस्या तब और गंभीर हो जाती है, जब यह रोग बच्चों में दिखाई देते हैं और इनकी गंभीरतम स्थिति ऐसी होती जिसमे वे बच्चें अपने परिवार द्वारा त्याग दिए जाते है | सदगुरु श्री भैय्युजी महाराज के पालन पोषण हेतु ही सूर्योदय बालगृह की स्थापना की है | इन बच्चों की चिकित्सकीय सहायता के साथ-साथ उनके भरण पोषण व शिक्षा व्यवस्था का भी प्रबंध किया जाता है |

संकल्प – एच.आई.वी. पीड़ित बच्चों को एक नया सम्मानजनक जीवन जीने के लिए प्रेरित करना तथा उनका भरण पोषण का उत्तरदायित्त्व का निर्वहन करना ही सूर्योदय परिवार का संकल्प है |

हमारे प्रयास – सूर्योदय बालगृह की स्थापना के पश्चात सूर्योदय परिवार द्वारा एच आई वी पीड़ित बच्चों की शिक्षा व भरण पोषण की व्यवस्था अकोला स्थित बालगृह में की गई | जहाँ पर सभी बच्चों का पढ़ने-लिखने, भोजन व आवास की पूरी व्यवस्था है तथा आपातकालीन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है |
चुनौतियाँ – एच.आई.वी. पीड़ित बच्चों को समाज में समान अधिकार दिलवाना ही इस अभियान की सबसे बड़ी चुनौती है |

परिणाम एवं सार्थकता – सूर्योदय परिवार द्वारा सूर्योदय बालगृह का सतत संचालन किया जा रहा है जहाँ पर सभी एच आई वी पीड़ित बच्चों का पालन पोषण व स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं का खर्च सूर्योदय परिवार द्वारा बहन किया जाता है | यहाँ बच्चें भजन, कीर्तन व अन्य अध्यात्मिक कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते है |

उपलब्धियाँ – सूर्योदय बालगृह में अनेक एच आई वी पीड़ित बच्चें नृत्य कला में निपुण है तथा विभिन्न प्रतिस्पर्थों में हिस्सा लेते है | साथ ही कई अन्य गतिविधियों में सक्रिय भागीदारी निभाकर ये बच्चे कई राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय पुरुस्कार प्राप्त कर चुके है |

आकड़े – सूर्योदय परिवार द्वारा सूर्योदय बालगृह के माध्यम से १०१ एच आई वी पीड़ित बच्चों की शिक्षा व्यवस्था व पालन-पोषण किया जा रहा है |

अभियान से जुड़े – “सूर्योदय परिवार” द्वारा चलाये जा रहे इस अभियान से हर वर्ग एवं आयु के लोग जुड़ सकते है | यदि आप इस अभियान से जुड़ना चाहते है तो आप नीचे दिए गए नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं:


एक स्वयंसेवी बनें अभी दान कीजिए डाउनलोड रिपोर्ट समीक्षा लिखे

परियोजना फोटो


मीडिया फोटो


© 2017 All Right Reserved