श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

सूर्योदय संविधान जागरण अभियान

सन : 26-01-2001 स्थान : मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र


मूल भावना – भारत जैस संवैधानिक देश में प्रत्येक नागरिक के लिए आवश्यक है, कि वह भारत के संविधान के बारे में उचित जानकारी रखता हो | संविधान के प्रति के जागरूकता और संविधान निहित संहिताओं और नियमों का ज्ञान हर भारतीय के संज्ञान में होना चाहिए | यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि देश के एक ज़िम्मेदार नागरिक के तौर पर संविधान द्वारा प्रदत्त नागरिक अधिकार एवं नियत नागरिक कर्तव्य को जानना बेहद जरुरी है | साथ ही संविधान द्वारा बनाये गए नियम व विधि (कानून) भी प्रत्येक व्यक्ति के संज्ञान में होना चाहिए | यह हमारे सामाजिक जीवन को बेहतर व व्यवस्थित बनाने का सवश्रेष्ठ मार्ग है ।

संकल्प – “सूर्योदय परिवार” का हर प्रकल्प व योजना का प्रारंभ सदगुरु श्री भैय्युजी महाराज की प्रेरणा से होता है | “सूर्योदय संविधान जागरण अभियान” के माध्यम से सभी अध्ययनरत विद्यार्थियों को संविधान का सही ज्ञान व उचित जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए संकल्पित है ।

हमारे प्रयास – सदगुरु श्री भैय्युजी महाराज की प्रेरणा से “सूर्योदय परिवार बर्ष २००१ से ही “संविधान जागरण अभियान” का सतत संचालन कर रहा है | सर्वप्रथम २००१ में हमने संविधान को मुख्य रूप से एक छोटी पुस्तिका के रूप में प्रकाशित किया तथा उस पुस्तिका की ३५,००० प्रतियों में छात्र/छात्राओं को वितरित की | गौरतलब है कि इसका औपचारिक उद्घाटन मध्य प्रदेश के तत्कालीन राज्यपाल डॉ. भाई महावीर द्वारा किया गया था ।

इसी क्रम में “सूर्योदय परिवार” द्वारा बर्ष २००६ में “भारतीय संविधान जन-जागृति मशाल यात्रा” नाम से रथ यात्रा का आयोजन किया गया, जो बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जन्मस्थली महू (म.प्र.) से शुरू होकर मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र के ७५ शहरों में विभिन्न शिविरों एवं कार्यक्रमों के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया जो कि कुल १८ दिवसीय विशाल कार्यक्रमों के रूप में नागपुर में संपन्न हुआ | लेकिन यह उस अभियान की समाप्ति न होकर वास्तविक शुरुआत थी, जिसके बाद अनवरत हर वर्ष इस अभियान के तहत लाखों विद्यार्थीगण लाभ पा चुके है | यह अपने आप में एक क्रांति का प्रारंभ था ।


चुनौतियाँ – जब कोई भी व्यक्ति या समाज किसी सकारात्मक कार्य की शुरुआत करता है तो स्वाभाविक रूप से उसके समक्ष कई चुनौतियाँ आती है | इस अभियान में हमें हर वर्ग का सहयोग प्राप्त हुआ | फिर भी हम इस अभियान को चुनौती के तौर पर प्राप्त करते हैं, और वह है “दायित्व बोध” | हम जिस भी स्थान पर संविधान के प्रति जागरूकता फ़ैलाने के लिए कोई कार्यक्रम शिविर या यात्रा करते है, तो उसकी असल सफलता हमारे प्रयासों के बाद हर प्रतिभागी अथवा लाभार्धी के स्वयं के दायित्व बोध द्वारा सुनिश्चित होती है | हर व्यक्ति के लिए आवश्यक है, कि वह संविधान के प्रति जागरूक रहे एवं अपनी जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुचाये | सामूहिक प्रयास ही किसी अभियान व योजना को अपनी नियति तक पहुंचाते है |

परिणाम एवं सार्थकता – यह सदगुरु श्री भैय्युजी महाराज की दूरदर्शिता एवं परिपक्व सोच का ही फल है कि एक सबसे मौलिक और आवश्यक अभियान जिसकी शुरुआत कई वर्ष पहले ही की जा चुकी थी | आज अपनी उपलब्धि के साथ अपनी सर्वश्रेष्ठ स्थिति में है, जहाँ यह बात सरकारी संस्थाओं द्वारा अब संज्ञान में लाई जा रही है | “सूर्योदय परिवार” अपने ठोस आकड़ों एवं परिणामों के साथ उपस्थित है | यह हमारे लिए सुखद स्थिति है, जो हमें आगे और अधिक ऊर्जा के साथ कार्य करने में सहायता प्रदान करेगी ।

उपलब्धियाँ – वर्ष २००१ से प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर एक माह तक निरंतर विभिन्न स्थानों पर संविधान परीक्षा का आयोजन किया जाता है एवं प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किये जाते है ।

आकड़े – इस अभियान के माध्यम से अब तक २०,००,०००० छात्र / छात्राएं लाभान्वित हो चुके है | भारत के विभिन्न राज्यों के लगभग १२०० से अधिक गाँव एवं शहरों में इसका आयोजन किया जा चुका है |

अभियान से जुड़े –“सूर्योदय परिवार” द्वारा चलाये जा रहे इस अभियान से हर वर्ग एवं आयु के लोग जुड़ सकते है | यदि आप इस अभियान से जुड़ना चाहते है तो आप नीचे दिए गए नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं: 



सम्पर्क सूत्र - 7722992266 - 9



एक स्वयंसेवी बनें अभी दान कीजिए डाउनलोड रिपोर्ट समीक्षा लिखे

परियोजना फोटो


मीडिया फोटो


ग्राफ


© 2017 All Right Reserved