श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट

सूर्योदय जीवदया अभियान

सन : 01-06-2009 स्थान : मध्य प्रदेश एवं महाराष्ट्र


मूल भावना – भारतीय दर्शन के अनुसार प्रकृति व उपस्थित समस्त वनस्पतियाँ व जीवात्माएं सामान रूप से जीवन का अधिकार रखती हैं – सूक्ष्म व विराट जीवित अंश भी इस पृथ्वी पर रहने का अधिकारी है | हमारा दर्शन आत्मा में निहित परमात्मा के सम्मान की शिक्षा देता है | जिस तरह ईश्वर की आत्मा परमात्मा के समरूप है, उसी तरह सभी जीवों में भी ईश्वर का वास है, अंतर केवल इतना है कि हम मनुष्य अपनी भावनाओं के व्यक्त कर पाते हैं व अन्य पशु-पक्षी अपनी पीड़ा व भावना व्यक्त करने में असमर्थ हैं |

मनुष्य अपने स्वार्थ में लगातार इस प्रकृति का ह्रास कर रहा है | मनुष्य की अमर्यादित उपभोग की नीति के कारण प्राकृतिक संसाधन जैसे नदी, वन व अन्य जल स्त्रोत दूषित एवं प्रभावित हो रहे हैं, जो पशु-पक्षियों के जीवन को भी प्रभावित करते हैं, जबकि इन पशु-पक्षियों के लिए भी भोजन एवं पानी उपलब्ध कराना भी हमारा कर्त्तव्य है | सूर्योदय जीवदया अभियान इसी भावना के साथ शुरू किया गया है |
संकल्प – सूर्योदय जीवदया अभियान के अंतर्गत पशु-पक्षियों के लिए भोजन व पानी के उपलब्धता सुनिश्चित करवाने एवं पशु चिकित्सालयों की स्थापना करने का संकल्प लिया गया है, जिससे उनका स्वास्थ्य व जीवन सुखमय हो सके |

हमारे प्रयास – सदगुरु श्री भैय्युजी महाराज की प्रेरणा से जीवदया अभियान के अंतर्गत सूर्योदय परिवार द्वारा पशु-पक्षियों के लिए भोजन-पानी की व्यवस्था की जाती है | गावों में सीमेंट की पानी की टंकियों का वितरण किया जाता है, ताकि पशु-पक्षियों के लिए एक स्थायी जल्स्त्रोंत उपलब्ध हो सके |

चुनौतियाँ – जब हम कोई भी सकारात्मक कार्य करते हैं, तो निश्चय ही उस कार्य के साथ की चुनौतियाँ भी सामने आती हैं | जीवदया अभियान के तहत ऐसी ही कुछ चुनौतियां व समस्याएं हमें शंकित करती रहीं – सूर्योदय परिवार द्वारा स्थापित पानी की टंकियों व अन्य भोजन व जल के स्त्रोतों का संरक्षण भी एक महती आवश्यकता है, ताकि किये गए प्रयास निष्फल न हों |

परिणाम एवं सार्थकता – जीवदया अभियान के तहत मिट्टी के सकोरे वितरित किये गए तथा पशुओं के लिए मोबाइल एम्बुलेंस की सुविधा प्रारंभ की गई |

उपलब्धियाँ – जीवदया अभियान की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि हम इस अभियान द्वारा आम जन तक यह सन्देश पहुचाने में सफल रहे हैं कि सभी पशु-पक्षी भी समान व्यवहार के अधिकारी हैं व हमें उनके प्रति दया का भाव रखना चाहिए | यह हमारे व्यक्तित्व को भी विनम्र व श्रेष्ठ बनाता है |

आकड़े – सूर्योदय जीवदया अभियान के अंतर्गत पशुओं के चिकित्सा हेतु तीन एम्बुलेंस सुविधा एवं पशु-पक्षियों के दाना-पानी की व्यवस्था | पशुओं के लिए १३५ टंकी पानी पीने के लिए वितरित | अब तक ७ लाख सकोरे वितरित | ३० हजार पशुओं का टीकाकरण |

अभियान से जुड़े – “सूर्योदय परिवार” द्वारा चलाये जा रहे इस अभियान से हर वर्ग एवं आयु के लोग जुड़ सकते है | यदि आप इस अभियान से जुड़ना चाहते है तो आप नीचे दिए गए नंबर पर सम्पर्क कर सकते हैं:


एक स्वयंसेवी बनें अभी दान कीजिए डाउनलोड रिपोर्ट समीक्षा लिखे

परियोजना फोटो


मीडिया फोटो


© 2017 All Right Reserved